अमृत कलश

Monday, September 1, 2014

शुभाशंसा

                                                  शुभाशंसा
श्रीमती आशा लता सक्सेना की नवीन कृति ' सिमटते स्वप्न  'प्रकाशन  के द्वार पर खड़ी है |उनके अपने जीवन चिंतन से अनुस्यूत कविताओं के इस संकलन में भावावेश के स्थान पर वैचारिक धरातल पर उनकी लेखिनी ने अधिक प्रभावित किया |
         तर्क और गंभीरता उनकी रचनाओं में सर्वत्र ही पाई जा सकती है |भाव जगत के यत्र तत्र मिलते रहने से कवि  की वह प्रोढ़ता प्रगट होती है जो इस युग के सर्वथा उपयुक्त है |'मेघ अषाढ़ का 'में कवि  ह्रदय की वे धड़कनें बोलती हैं जो मनुष्य की कभी तृप्त  न होने वाली प्यास प्रेम के प्रति उसे मोहित करती रही है| 'तस्वीर उजड़े घर की 'नारी के स्वप्न और उसके रूबरू होते यथार्थ को प्रकाशित कर हमें आगाह भी करती है |प्रिय वियोग के पश्चात ,प्रियतम का मूल्यांकन 'सान्नीध्य ' में उजागर किया गया है | 'सिमटते स्वप्न . में -मानव मन के -वास्तविकता के धरातल पर आने की विवशता वर्णित है |मानव मन केवल शापग्रस्त  ही नहीं है उसकी ,छटी  इन्द्रिय भी उसे जगाती है यह सत्य 'अधोपतन ' में उद्घाटित है |'बदनाम हो गए' में सामाजिक विवशता और विषमता के पक्ष भी प्रस्तुत करते प्रतीत होते हैं |
         श्रीमती आशा जी के सबल वैचारिक  पक्ष पर लिखी रचनाएं निश्चय ही आपके मन मानस का स्पर्श कर सकेंगी ,इस आशा और विश्वास के साथ उनको मेरी शुभ कामनाएं |
                                                                नोट :-   श्री प्रकाश उप्पल द्वारा लिखा गया
           
                                                                           ३१ अगस्त २०१४                                                                
                                                            (वरिष्ठ साहित्यकार पत्रकार एवं कवि )



1 comment:

  1. Hello..
    Earn money from your blog/site/facebook group
    I have visited your site ,you are doing well..design and arrangements are really fantastic..
    Here I am to inform you that you can add up your income.
    Our organization Kachhua is working to help students in their study as well as in prepration of competitive examination like UPSC,GPSC,IBPS,CA-CPT,CMAT,JEE,GUJCATE etc and you can join with us in this work. For that visit the page
    http://kachhua.in/section/webpartner/
    Thank you.
    Regards,

    For further information please contact me.

    Sneha Patel
    Webpartner Department
    Kachhua.com
    Watsar Infotech Pvt Ltd

    cont no:02766220134
    (M): 9687456022(office time;9 AM to 6 PM)

    Emai : help@kachhua.com

    ReplyDelete